सदस्यता के लिए →

संस्थान को दिया गया दान आयकर अधिनियम 1961 की धारा 809 के तहत कर मुक्त होगा।

आपश्री जुड़ना चाहते है या अपने क्षेत्र में भागवद् कथा ,रामकथा ,शिवपुराण ,मायरा ,रामजानकी विवाह , हनुमत कथा ,कृष्णकथा ,घुटनो क दर्द का जांच शिविर , आयुर्वेद चिकित्सा केंद्र लगाना चाहते हो तो संपर्क करे। आपश्री हमारे संरक्षक सदस्य बन सकते हे मात्र 1100 रु. का दान देकर।

  • सम्मानित ट्रस्टी -11 लाख रु.
  • विशिष्ट ट्रस्टी -5 लाख रु.
  • राशन सहयोगी – 1100 /-
  • आजीवन सदस्य – 5100 /-
  • आजीवन संरक्षक सदस्य – 11000 /-
  • सदस्य सेवा -500 /-
  • संरक्षक सदस्य -1100 /-
  • टेंकर पेयजल – 400 /-
  • गणवेश सहयोग – 600 /-
  • स्टेशनरी सेवा – 500 /-
  • गौ सेवा (एक माह ) – 1200 /-
  • भंडारा सेवा -(प्रतिदिन )5000 /-