Human Development & Charitable Society in Udaipur, Jaisalmer, Jodhpur, Rajasthan, India

Human Development & Charitable Society in Udaipur

हमारे बारे में →

सु-स्वागतम

आपका अपना संस्थान विगत ७ वर्षो से मानव सेवा में लगा हुआ हे। फुटपाथ पर सोते हुए गरीबो को देखकर ,सर्दी में ठिठुरते बच्चो और वृध्दों को देखकर ,भूख से कहराते हुए असहायों को देखकर , विधवा और तलाकशुदा औरतो को औरो के घर में झाड़ू पोछा करते देखकर , रोड पर तीव्र गति से चलते हुए वाहनो के द्वारा कुत्तो को मरते देखकर , गावों में औरतो को कोसो पैदल चलकर सिर पर ३-३ मटके रखकर पानी लाता देखकर , अपंगो को लड़खड़ाते देखकर ,वृध जनों को ठोकर मारकर घर से निकालते देखकर और वरदाश्रम में जाते देखकर और गायों दुर्दशा रोड पर भूखी फिरती देखकर, ऐसा लगता हे की हम पृथ्वी पर बोझ हे क्या ? क्या मै और आप मिलकर हम होकर इनकी सहायता नहीं कर सकते। ऐसे अनेको दृश्य हे जिनको देखकर दिल दुःख से द्रवित हो जाता हे।

हमारे मानव इंसान होने पर सवालिया निशान लगा देता हे। इन्ही सवालो ने और हमारे परिवार संस्कारो ने परोपकार के लिए मजबूर कर दिया। कुछ भी करो लेकिन अगर कोई तकलीफ में दिखे तो उसकी मदद पहले करो। अगर कोई भूखा हे तो रोटी खिलाना , बीमार है तो उसको दवाई दिलाना ,राशन के लिए तरस रहा है तो मासिक राशन देना। अनाथ ,असहाय ,निराश्रित बच्चे जिनके चेहरे पर मुस्कुराहट होनी चाहिए लेकिन चेहरों पर चिंता की लकीरे हो तो उन्हें पढ़ा- लिखा कर अपने पैरो पर खड़ा करने का एक मानवीय प्रयास।

हमारा संकल्प है की ” वसुदेव कटुम्बकम “ राजस्थान में ही नहीं अपितु संपूर्ण हिन्दुस्तान में कोई भी दीन -दुःखी ,विकलांग ,अनाथ ,विधवा , वृद कोई भी जीव (प्राणी) कष्ट न पावे।